Guidelines For Artwork Enrollment (कलाकृति नामांकन के लिए दिशानिर्देश) Endangered Folk Arts Of India, Bangalore, 16 – 19 2022

[ 1 ]

1. Introduction: Largest Indian Folk Art Exhibition & Workshop (भारतीय लोक कला प्रदर्शनी और प्रशिक्षण कार्यशाला)

International Indian Folk Art Gallery (IIFAG) Australia is a non-government organization, with fully registered and licensed operations also in India. India is a host to over 50 traditional indigenous folk arts. Read more>>. 

These beautiful folk arts have been passed on from generation to generation for over 3000 years. However, except for a handful, the rest of them are on the verge of extinction.

इंटरनेशनल इंडियन फोक आर्ट गैलरी (IIFAG) एक गैर सरकारी संस्था है जो पूरी तरह से रजिस्टर्ड है और भारत में भी लाइसेंस के साथ संचालन प्राप्त है।

भारत ५० से भी अधिक पारंपरिक स्वदेशी कला रूपों का मेजबान है। यह खूबसूरत लोक कलाएं ३००० से अधिक सालों से पीढ़ी दर पीढ़ी चली आ रही है। लेकिन उनमें केवल मुट्ठी भर कलाएं ही सफल हुई है बाकी सब विलुप्त होने के हाल में है।

International Indian Folk Art Gallery (IIFAG), is trying to help revive ‘Indian Folk Art’ and support traditional artists to make a dignified living. Our vision is to pass Indian Folk Art to the next generation.

With the vision of passing traditional Indian Folk Art to the next generation, International Indian Folk Art Gallery (IIFAG Australia), kicked off its global roadshow under the theme “Endangered Folk Arts Of India”, exhibitions & workshop at Kamalnayan Bajaj Hall & Art Gallery, Mumbai, Nariman Point, Mumbai.  Read more>>

We have lined up more “Endangered Folk Arts Of India” exhibitions for 2022, including in Australia, US, Canada and UK.

International Indian Folk Art Gallery, Australia is inviting you to be part of the Largest Indian Folk Art Exhibition & Workshop at Karnataka Chitrakala Parishath, Bangalore, India from 6 – 19 June 2022.

IIFAG इस कोशिश में है की हम उन भारतीय कला को पुनर्जीवित करे और उन कलाकारों का सम्मान के साथ गुजारा चले। हमारी कोशिश है कि हम इन भारतीय लोक कला को अगली पीढ़ी तक पहुंचाए।

इसी विषय को ध्यान मे रखे हुए IIFAG ने अपने पहले ऑफलाइन प्रदर्शन “Endangered Folk Arts of India” कमलनयन बजाज हाल, नरीमन प्वाइंट, मुंबई में आयोजित किया था

अब इस साल ऐसे ही “Endangered Folk Arts of India” का प्रदर्शन ऑस्ट्रेलिया, यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ अमेरिका और सबसे बड़ा भारतीय लोक कला प्रदर्शन और कार्यशाला “कर्नाटक चित्रकला परिषद” बंगलौर, कर्नाटक, इंडिया में आयोजित किया जाएगा। 16 – 19 जून 2022

इस प्रदर्शन और कार्यशाला में शामिल होने केलिए आप सभी का हार्दिक स्वागत है।

[ 2 ]

2. Guidelines For Submitting Artworks For Endangered Folk Arts of India - Largest Indian Folk Art Exhibition & Workshop (कलाकृतियां जमा करने के लिए दिशानिर्देश)

Namaskar,

The deadline for registrations to participate in the Endangered Folk Arts of India, Exhibition and Workshop is 15th May 2022 (Final batch)

We are very pleased to share that 1012 artists have registered for this event, which will take place at Karnataka Chitra Kala Parishath in Bangalore from 16-19 June 2022.

Thank you so much!

Sadly, due to limited Gallery space, we may not be able to accept all artworks.

The criteria for the selection of artworks will be based on the following:

  1. Unique and original artworks
  2. Artworks that are enrolled and paid in full
  3. and preference will be given to underprivileged traditional artists and rare forms of Indian Folk Arts.
Note:
  • If you have not enrolled your artwork for approval, please do so immediately.
  • Once your artwork is approved, you will receive an email with a link to make payment for approved artwork.
  • Once you have made full payment, you will receive instructions to deliver the artwork before 10th June, 2022.

Requirements For Entry

International Indian Folk Art Gallery (IIFAG) Australia is inviting amateur and professional artists to participate in the largest Indian Folk Art Exhibition and Workshop, planned from 16th to 19th June, 2022 at Karnataka Chitrakala Parishath, Bangalore, India.

Step-by-step process to enroll your artwork for exhibition:
  1. Register your interest to submit your best artwork for the exhibition. Deadline 15th May 2022 [final batch]
  2. Send high resolution image (s) of your artwork (+2MB) for approval by email before 30th May 2022. The email should have the following information (download template>>)
    1. Email address : support@indianfolkart.org
    2. Email subject: Endangered Folk Arts Of India, Bangalore 2022
    3. Name of the artist:
    4. Email of the artist for all communications:
    5. Mobile number of the artist:
    6. Number of artworks to be submitted by the artist:
    7. Are you planning to attend the event? YES/NO [If yes, on which days]
    8. For each artwork, we need following information
      1. File name (example: DSC_2900 etc.,)
      2. Title of the artwork (example: Ramayana Story)
      3. Name of the Folk Art (example: Pattachitra Painting)
      4. Folk Art category (see below) (example: Indian Folk Art – Eastern region)
      5. Size of the artwork (example: 24 inches x 48 inches)
      6. With Frame? YES/NO
      7. Approximate weight in KG (example: 1 KG)
      8. Selling price (example: INR 20,000)
  3. Self attested declaration that the submitted artwork is your own creation and not copied or done by another artist (download template>>)
  4. Once your artwork is approved by IIFAG, please pay entry fees for the artwork(s) as early as possible but not later than the deadline, 30th May 2022 (Link and detailed information will be sent to you by email and also will be available on this page)
  5. All approved artwork must be received by IIFAG before 10th June 2022. (Address for sending the artworks will be sent to you by email and also will be available on this page)
  6. Indian Folk Art Categories: Artists can submit their artworks from anyone of the following five regions of India. For details about various folk arts of India, kindly refer to the following link >> 
    1.  Indian Folk Art – Southern region
    2. Indian Folk Art – Northern region
    3. Indian Folk Art – Central region
    4. Indian Folk Art – Eastern region
    5. Indian Folk Art – Western region

नमस्कार,

भारत की लुप्तप्राय लोक कलाओं, प्रदर्शनी और कार्यशाला में भाग लेने के लिए रजिस्ट्रेशन की समय-सीमा, 15 मई, 2022। (अंतिम बैच)

हमें यह बताते हुए बहुत खुशी हो रही है कि इस कार्यक्रम में 1,012 कलाकारों ने रजिस्ट्रेशन कराया है, जो कि कर्नाटक चित्र कला परिषद, बैंगलोर में 16 से 19 जून 2022 तक आयोजित करने की योजना है।

बहुत-बहुत धन्यवाद!

हमें इस बैठक खेद है कि गैलरी में सीमित स्थान के कारण, हम सभी कलाकृतियों को स्वीकार करने में असमर्थ है।

कलाकृतियों के चयन का मानदंड निम्नलिखित बातों के पर आधारित होगा:

1. अनोखी और मौलिक कलाकृतियां
2. कलाकृतियाँ जो पहले रजिस्टर्ड हैं और जिनका पूरा भुगतान किया जा चुका है।
3. वंचित पारंपरिक कलाकारों और भारतीय लोक कलाओं के दुर्लभ रूप को प्राथमिकता दी जाएगी।

टिप्पणी:

1. यदि आपने अपनी कलाकृतियों को अनुमोदन के लिए रजिस्टर्ड नहीं किया है, तो कृपया इसे तुरंत करें। नीचे दिए गए लिंक को देखें “कलाकृति प्रस्तुत करने के लिए दिशानिर्देश”
2. एक बार आपका आर्टवर्क स्वीकृत हो जाने पर, आपको स्वीकृत आर्टवर्क के लिए भुगतान करने के लिए लिंक के साथ एक ई-मेल भी प्राप्त होगा।
3. भुगतान की प्रक्रिया पूरी करने के बाद आपको 10 जून 2022 से पहले कलाकृतियों को वितरित करने के निर्देश मिलेंगे।

कलाकृतियां जमा करने की जानकारी

अंतर्राष्ट्रीय भारतीय लोक कला दीर्घा (IIFAG) ऑस्ट्रेलिया सबसे बड़ी भारतीय लोक कला प्रदर्शनी और कार्यशाला में भाग लेने के लिए शौकिया और पेशेवर कलाकारों को आमंत्रित कर रहा है। इस आयोजन की योजना 16 से 19 जून 2022 तक कर्नाटक चित्रकला परिषद, बैंगलोर में है।

प्रदर्शनी के लिए अपनी कलाकृति जमा करने की चरण-दर-चरण प्रक्रिया:

  1. प्रदर्शनी के लिए अपनी सर्वश्रेष्ठ कलाकृति प्रस्तुत करने के लिए अपनी रुचि दर्ज करें। समय सीमा 15 मई 2022 [अंतिम बैच]
  2. 30 मई 2022 से पहले ईमेल द्वारा अनुमोदन के लिए अपनी कलाकृति (+2MB) की उच्च रिज़ॉल्यूशन वाली छवि (छवियों) को भेजें। ईमेल में निम्नलिखित जानकारी होनी चाहिए (टेम्पलेट डाउनलोड करें >>)
    1. ईमेल पता: support@indianfolkart.org 
    2. ईमेल विषय: भारत की लुप्तप्राय लोक कला, बैंगलोर 2022
    3. कलाकार का नाम:
    4. सभी संचारों के लिए कलाकार का ईमेल:
    5. कलाकार का मोबाइल नंबर:
    6. कलाकार द्वारा प्रस्तुत की जाने वाली कलाकृतियों की संख्या:
    7. क्या आप इस कार्यक्रम में शामिल होने की योजना बना रहे हैं? हाँ/नहीं [यदि हाँ, तो किस दिन]
    8. प्रत्येक कलाकृति के लिए, हमें निम्नलिखित जानकारी चाहिए
      1. फ़ाइल का नाम (उदाहरण: DSC_2900 आदि)
      2. कलाकृति का शीर्षक (उदाहरण: रामायण कहानी)
      3. लोक कला का नाम (उदाहरण: पट्टाचित्र पेंटिंग)
      4. लोक कला श्रेणी (नीचे देखें) (उदाहरण: भारतीय लोक कला – पूर्वी क्षेत्र)
      5. कलाकृति का आकार (उदाहरण: 24 इंच x 48 इंच)
      6. फ्रेम के साथ? हाँ नही
      7. केजी में अनुमानित वजन (उदाहरण: 1 किलो)
      8. बिक्री मूल्य (उदाहरण: INR 20,000)
  3. स्व-प्रमाणित घोषणा कि प्रस्तुत कलाकृति आपकी अपनी रचना है और किसी अन्य कलाकार द्वारा कॉपी या की गई नहीं है (डाउनलोड टेम्पलेट>>)
  4. एक बार जब आपकी कलाकृति को IIFAG द्वारा अनुमोदित कर दिया जाता है, तो कृपया कलाकृति के लिए जल्द से जल्द प्रवेश शुल्क का भुगतान करें, लेकिन समय सीमा के बाद नहीं, 30 मई 2022 (लिंक और विस्तृत जानकारी आपको ईमेल द्वारा भेजी जाएगी और यह भी उपलब्ध होगी यह पन्ना)
  5. 10 जून 2022 से पहले सभी स्वीकृत कलाकृति IIFAG द्वारा प्राप्त की जानी चाहिए। (कलाकृतियों को भेजने का पता आपको ईमेल द्वारा भेजा जाएगा और इस पृष्ठ पर भी उपलब्ध होगा)
  6. भारतीय लोक कला श्रेणियाँ
    कलाकार भारत के निम्नलिखित पांच क्षेत्रों में से किसी से भी अपनी कलाकृतियां जमा कर सकते हैं। भारत की विभिन्न लोक कलाओं के बारे में विवरण के लिए, कृपया निम्नलिखित लिंक देखें >>

    1. भारतीय लोक कला – दक्षिणी क्षेत्र
    2. भारतीय लोक कला – उत्तरी क्षेत्र
    3. भारतीय लोक कला – मध्य क्षेत्र
    4. भारतीय लोक कला – पूर्वी क्षेत्र
    5. भारतीय लोक कला – पश्चिमी क्षेत्र

[ 3 ]

3. Exhibition Entry Fees for Artworks (कलाकृतियों के लिए प्रदर्शनी प्रवेश शुल्क)

Entry fee for each artwork

  1. Small size (longest side less than 50cm): ₹ 1000
  2. Medium size (longest side 50 – 125cm): ₹ 2000
  3. Large size (longest side more than 125cm): ₹ 3000

प्रत्येक कलाकृति के लिए प्रवेश शुल्क

  1. छोटा आकार (सबसे लंबी भुजा 50 सेमी से कम): ₹1000
  2. मध्यम आकार (सबसे लंबी भुजा 50 – 125 सेमी): ₹ 2000
  3. बड़ा आकार (सबसे लंबी भुजा 125 सेमी से अधिक): ₹ 3000

[ 3 ]

4. Instructions to send your artworks (paintings)

Instructions to send artworks for Bangalore Exhibition

  1. As mentioned previously, Karnataka Chitrakala Parishath (CKP) Bangalore Gallery will only accept framed paintings that are to be hung on the Gallery walls. So it’s highly recommended to get your artwork framed. IIFAG can also get it framed for you, please see below details.
  2. All artworks must have following information (These details should be labelled on the back of each painting)
    1. IIFAG’s ARTIST ID NUMBER,
    2. Artist name,
    3. address
    4. and contact details
  3. Payment for all approved artworks must be done before 30th May 2022.
  4. Delivery of artworks: All approved artworks must be sent to the below address by June 10, 2022. After this deadline, artworks will not be accepted for exhibition.
    • Mr. Umapathy
    • Bangalore Exhibition & Workshop 2022
    • International Indian Folk Art Gallery
    • 54/103, Santhome High Road, Foreshore Estate,
    • Chennai, Tamil Nadu, 600028, India
    • Mobile: 9791069731 / 9884612220
  5. If you intend to personally bring your artworks to Bangalore, these must be available at the Karnataka Chitrakala Parishath (CKP) Bangalore on 15th May, at no later than 1:00 p.m. But you must inform us by email: support@indianfolkart.org before May 21, 2022
  6. Framing Services: IIFAG can provide assistance to get your canvas framed (stretched and stapled on a wooden frame), if you wish to get your artwork framed, please inform us in advance by email: support@indianfolkart.org before May 21, 2022.
    • The price for a frame is INR 70 per foot. For example, if your painting is 24 × 18 inches, then the total length of reeper for all four sides will be 24 + 24 + 18 + 18 = 84 inches. The price will be 7 × 70 = 490.
    • This price needs to be paid to IIFAG. Upon request, bank details will be provided by email
  7. Collecting Unsold Paintings: We would like all of the paintings in the exhibition to be sold, but it’s possible that some paintings may not find a new home.
    1. In such instances, IIFAG will inform the artists and it is their responsibility to collect their paintings from the gallery on the last day of the exhibition, 19th June 2022.
    2. If you are unable to collect your paintings, IIFAG will store these paintings for two weeks for collection from our Chennai office.
    3. We will not be responsible for any loss or damage to these paintings after the two-week storage period.
    4. If you would like IIFAG to return these paintings through courier, we can organise this based on Cash on delivery or payment in advance.
    5. Kindly provide clear instructions by email: support@indianfolkart.org before May 21, 2022.

बैंगलोर प्रदर्शनी के लिए कलाकृतियां भेजने के निर्देश –

  1. जैसा कि पहले सूचित किया जा चुका है कि कर्नाटक चित्रकला परिषद (सीकेपी) बैंगलोर गैलरी केवल फ़्रेम किये गये चित्रों को ही स्वीकार करेगी जिन्हें गैलरी की दीवारों पर लटकाया जाना है। इसलिए यदि आपका आर्टवर्क फ्रेम हो तो बेहतर होगा। यदि नही है तो IIFAG भी इसे आपके लिए फ्रेम करा सकता है। फ्रेमिंग कराने के लिए विवरण नीचे देखें :-
  2. सभी कलाकृतियों में निम्नलिखित जानकारी होनी चाहिए (यह विवरण प्रत्येक पेंटिंग के पीछे लिखा होना चाहिए)
    1. IIFAG का कलाकार ID नंबर,
    2. कलाकार का नाम,
    3. पता
    4. संपर्क विवरण
  3. सभी प्रस्तुत कलाकृतियों का भुगतान 30 मई 2022 से पहले किया जाना चाहिए।
  4. सभी स्वीकार की गई कलाकृतियों को 10 जून, 2022 तक नीचे दिए गए पते पर भेज दिया जाना चाहिए। इस समय सीमा के बाद, कलाकृतियों को प्रदर्शनी के लिए स्वीकार नही किया जाएगा।
    • Mr. Umapathy
    • Bangalore Exhibition & Workshop 2022
    • International Indian Folk Art Gallery
    • 54/103, Santhome High Road, Foreshore Estate,
    • Chennai, Tamil Nadu, 600028, India
    • Mobile: 9791069731 / 9884612220
  5. यदि आप अपनी कलाकृतियों को खुद बैंगलोर लाने की सोच रहे है, तो ये कर्नाटक चित्रकला परिषद (सीकेपी) बैंगलोर में 15 जून को दोपहर 1:00 बजे तक उपलब्ध होनी चाहिए।
  6. फ़्रेमिंग के लिए सुविधाएं :-
    1. IIFAG आपके कैनवस को फ्रेम करने में सहायता प्रदान कर सकता है (लकड़ी के फ्रेम पर फैला हुआ और स्टेपल किया हुआ)। यदि आप अपनी कलाकृति को फ्रेम करवाना चाहते हैं, तो कृपया हमें 21 मई, 2022 से पहले ई-मेल: support@indianfolkart.org द्वारा पहले से ही सूचित करें।
    2. एक फ्रेम की कीमत 70 रुपये प्रति फुट है। उदाहरण के लिए यदि आपकी पेंटिंग 24 × 18 इंच की है, तो चारों भुजाओं के लिए रीपर की कुल लंबाई 24 + 24 + 18 + 18 = 84 इंच (7 फुट) होगी -कीमत । 7×70=490 होगी।
    3. और फ्रेमिंग का मूल्य आपको  IIFAG को देना होगा।
  7. बिना बिकी कलाकृतियां :-
    1. वैसे तो हमारा लक्ष्य प्रदर्शनी में प्रदर्शित सभी पेंटिंग के बिक जाने का है लेकिन यह संभव है कि कुछ पेंटिंग को नया घर न मिले अर्थात वो न बिके। ऐसे में, IIFAG कलाकृतियों के कलाकारों को सूचित करेगा और यह उनकी जिम्मेदारी है कि प्रदर्शनी के अंतिम दिन 19 जून, 2022 को गैलरी से उनके चित्रों को एकत्र करें।
    2. यदि आप अपने चित्रों को एकत्र करने में असमर्थ हैं, तो IIFAG इन चित्रों को 2 सप्ताह तक हमारे चेन्नई कार्यालय में सुरक्षित रख सकता है।
    3. हम दो सप्ताह की अवधि के बाद इन कलाकृतियों के किसी भी नुकसान या क्षति के लिए जिम्मेदार नही होंगे।
    4. यदि फिर भी आप चाहते हैं कि IIFAG  इन पेंटिंग्स को कूरियर सेवा के माध्यम से आपको वापस लौटाए, तो हम इसे कैश ऑन डिलीवरी या अग्रिम भुगतान के आधार पर व्यवस्थित कर सकते हैं।
    5. कृपया 21 जून, 2022 से पहले ई-मेल :-  support@indianfolkart.org द्वारा स्पष्ट निर्देश देकर हमे सूचित करें।

[ 4 ]

4. Frequently Asked Questions (FAQ) [लगातार पूछे जाने वाले प्रश्न]

Information for Artist – Largest Indian Folk Art Exhibition & Workshop.

 

01. What is the exhibition Title?

A: “Endangered Folk Arts Of India”, Exhibition & Workshop

2. Where is the exhibition being held, Location?

A: Karnataka Chitrakala Parishath,
Art Complex, 1, Kumarakrupa Rd, near The Lalit Hotel,
Kumara Park East, Seshadripuram, Bengaluru,
Karnataka 560001, India

03. What are the dates for the exhibition?

A: 16th – 19th June, 2022

04. What are the requirements from artist to participate?

A: Artist needs to follow all the instructions as per above guidelines and date deadlines.

05. Who can participate?

A: Both Amateur and Professional artists can participate. The artwork must represent traditional folk arts of India. See reference article>>

06. When should the artwork be submitted?
A: Once the artworks are ready, they should be sent for approval by email immediately, all artworks must be approved and paid before 30th May 2022. See above “2. Guidelines For Submitting Artworks and template for sending by email

07. What kind of artifacts can be submitted?

A: All traditional Indian folk, tribal art and crafts can be submitted.

08. What will be the process for selection?

A: All artworks will be judged based on their originality, uniqueness and beauty. Artists will be given priority based on their submission of their artworks. So, do not submit close to the deadline. IIFAG management decision will be final.

09. Can I send multiple artworks from different folk art genre?

A: Yes, but they all must represent traditional folk arts of India. See reference article>>

10. Is their a template for sending the requested information by email?

A: Yes, we have a template. Download template from here>>

11. Should we send the artwork framed?

A: Yes, we highly recommend the artwork to be framed and sent. It should be ready to be hanged in the gallery. Artwork that are framed are easy to sell, compared to the ones without frame. You should include the costs of frame and shipping in the selling price. However, we will still accept artworks that are not framed.

12. Is their a entry fees?

A: Yes, we have entry fees for each artwork. This is mainly to eliminate non-serious artists, plus cover some of the costs of gallery and marketing expenses.

13. Where to deliver the artwork?

A: This information will be updated on 15th May 2022, plus communicated to all artists via emails.

14. How to deliver?

A: All artworks must have (1) artist name, (2) email and (3) mobile number at the back of each artifact. Artist can choose any preferred way to deliver their artwork, either with speedpost or courier services. IIFAG is not responsible for any damage during shipment.

15. Who will be responsible for insurance?

A: IIFAG will insure all artworks once it is received from the artist. Artist will be responsible for ensuring the artwork is insured during shipment for any damages.

16. How to collect unsold artworks from exhibition?

A: Artist can choose any preferred way to pick up their artwork, either with speedpost or courier services. IIFAG is not responsible for any damage during shipment. Upon receiving request from artist, IIFAG can pack and send the artwork back to artist’s nominated delivery address. In such cases, artist shall pay the costs for sending the shipment.

17. Should I attend the event in person?

A: No, you are not required to attend in person. However, you are welcome to do so at your own costs.

18. Will I get a participation certificate ?

A: Yes, all artists will receive a participation certificate, both as hardcopy and softcopy.

19. Is their a prize money ?

A: Yes. IIFAG will judge the best artwork in the exhibition and present the best artwork with a cash prize and trophy.

20. Who will judge the artwork?

A: A team of three judges from IIFAG will review and score the artwork.

21. Who will pay for travel costs to visit the exhibition?

A: IIFAG will only pay for artists, who will be selected for running workshops during the exhibition. All other artists will have to make their own arrangements, if they wish to attend the exhibition.

22. Who will pay for hotel costs to visit the exhibition?

A: IIFAG will only pay for artists, who will be selected for running workshops during the exhibition. All other artists will have to make their own arrangements, if they wish to attend the exhibition.

कलाकार के लिए सूचना – सबसे बड़ी भारतीय लोक कला प्रदर्शनी और कार्यशाला।

 

01. प्रदर्शनी का शीर्षक क्या है?

उत्तर: “भारत की लुप्तप्राय लोक कला”, प्रदर्शनी और कार्यशाला

2. आयोजन कहाँ हो रहा है, स्थान?

उत्तर: कर्नाटक चित्रकला परिषद,
कला परिसर, 1, कुमारकृपा रोड, ललित होटल के पास,
कुमारा पार्क ईस्ट, शेषाद्रिपुरम, बेंगलुरु,
कर्नाटक 560001, भारत

03. प्रदर्शनी की तिथियां क्या हैं?

उत्तर: 16 से 19 जून, 2022

04. कलाकार को अपनी कलाकृति प्रस्तुत करने के लिए क्या करना चाहिए?

उत्तर: कलाकार को उपरोक्त दिशानिर्देशों और तिथि की समय सीमा के अनुसार सभी निर्देशों का पालन करने की आवश्यकता है।

05. इस प्रदर्शनी में कौन भाग ले सकता है?

उत्तर: शौकिया और पेशेवर दोनों कलाकार भाग ले सकते हैं। कलाकृति को भारत की पारंपरिक लोक कलाओं का प्रतिनिधित्व करना चाहिए। संदर्भ लेख देखें >>

06. कलाकृति कब प्रस्तुत की जानी चाहिए?

उत्तर: एक बार कलाकृतियां तैयार हो जाने के बाद, उन्हें तुरंत ईमेल द्वारा अनुमोदन के लिए भेजा जाना चाहिए, सभी कलाकृतियों को 30 मई 2022 से पहले अनुमोदित और भुगतान किया जाना चाहिए। ऊपर देखें “2। कलाकृतियाँ और टेम्पलेट जमा करने के लिए दिशानिर्देश”

07. किस प्रकार की कलाकृतियां प्रस्तुत की जा सकती हैं?

उत्तर: सभी पारंपरिक भारतीय लोक, आदिवासी कला और शिल्प प्रस्तुत किए जा सकते हैं।

08. चयन की प्रक्रिया क्या होगी?

उत्तर: सभी कलाकृतियों को उनकी मौलिकता, विशिष्टता और सुंदरता के आधार पर आंका जाएगा। कलाकारों को उनकी कलाकृतियों को प्रस्तुत करने के आधार पर प्राथमिकता दी जाएगी। इसलिए, समय सीमा के करीब जमा न करें। आईआईएफएजी प्रबंधन का निर्णय अंतिम होगा।

09. क्या मैं विभिन्न लोक कला शैलियों से कई कलाकृतियां भेज सकता हूं?

उत्तर: हां, लेकिन इन सभी को भारत की पारंपरिक लोक कलाओं का प्रतिनिधित्व करना चाहिए। संदर्भ लेख देखें >>

10. क्या ईमेल द्वारा अनुरोधित जानकारी भेजने के लिए उनका एक खाका है? 

उत्तर: हाँ, हमारे पास एक टेम्पलेट है। यहाँ से टेम्पलेट डाउनलोड करें >>

11. क्या हमें तैयार की गई कलाकृति भेजनी चाहिए?

उत्तर: हां, हम अत्यधिक कलाकृति को तैयार करने और भेजने की सलाह देते हैं। इसे गैलरी में टांगने के लिए तैयार रहना चाहिए। बिना फ़्रेम वाली कलाकृति की तुलना में फ़्रेमयुक्त कलाकृति को बेचना आसान होता है। आपको बिक्री मूल्य में फ्रेम और शिपिंग की लागतों को शामिल करना चाहिए। हालांकि, हम अभी भी उन कलाकृतियों को स्वीकार करेंगे जिन्हें फ़्रेम नहीं किया गया है।

12. क्या उनका प्रवेश शुल्क है?

उत्तर: हां, हमारे पास प्रत्येक कलाकृति के लिए प्रवेश शुल्क है। यह मुख्य रूप से गैर-गंभीर कलाकारों को खत्म करने के लिए है, साथ ही गैलरी और मार्केटिंग खर्चों की कुछ लागतों को कवर करता है।

13. कलाकृति कहां पहुंचाएं?

उत्तर: यह जानकारी 15 मई 2022 को अपडेट की जाएगी, साथ ही सभी कलाकारों को ईमेल के माध्यम से सूचित किया जाएगा।

14. प्रदर्शनी में कलाकृति कैसे भेजें?

उत्तर: सभी कलाकृतियों में (1) कलाकार का नाम, (2) ईमेल और (3) प्रत्येक आर्टिफैक्ट के पीछे मोबाइल नंबर होना चाहिए। स्पीडपोस्ट या कूरियर सेवाओं के साथ कलाकार अपनी कलाकृति देने के लिए कोई भी पसंदीदा तरीका चुन सकते हैं। शिपमेंट के दौरान किसी भी नुकसान के लिए IIFAG जिम्मेदार नहीं है।

15. बीमा के लिए कौन जिम्मेदार होगा?

उत्तर: आईआईएफएजी कलाकार से प्राप्त होने के बाद सभी कलाकृतियों का बीमा करेगा। किसी भी नुकसान के लिए शिपमेंट के दौरान कलाकृति का बीमा सुनिश्चित करने के लिए कलाकार जिम्मेदार होगा।

16. प्रदर्शनियों से बिना बिकी कलाकृतियों को कैसे एकत्र करें?

उत्तर: कलाकार स्पीडपोस्ट या कूरियर सेवाओं के साथ अपनी कलाकृति लेने के लिए कोई पसंदीदा तरीका चुन सकते हैं। शिपमेंट के दौरान किसी भी नुकसान के लिए IIFAG जिम्मेदार नहीं है। कलाकार से अनुरोध प्राप्त होने पर, IIFAG कलाकृति को पैक कर सकता है और कलाकार के नामित वितरण पते पर वापस भेज सकता है। ऐसे मामलों में, कलाकार को शिपमेंट भेजने की लागत का भुगतान करना होगा।

17. क्या मुझे व्यक्तिगत रूप से कार्यक्रम में शामिल होना चाहिए?

उत्तर: नहीं, आपको व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होने की आवश्यकता नहीं है। हालांकि, अपने खर्च पर ऐसा करने के लिए आपका स्वागत है।

18. क्या मुझे भागीदारी प्रमाणपत्र मिलेगा?

उत्तर: हां, सभी कलाकारों को हार्डकॉपी और सॉफ्टकॉपी दोनों के रूप में भागीदारी प्रमाण पत्र प्राप्त होगा।

19. क्या उनकी पुरस्कार राशि है ?

उत्तर: हाँ। IIFAG प्रदर्शनी में सर्वश्रेष्ठ कलाकृति का मूल्यांकन करेगा और सर्वश्रेष्ठ कलाकृति को नकद पुरस्कार और ट्रॉफी के साथ प्रस्तुत करेगा।

20. कलाकृति का न्याय कौन करेगा?

उत्तर: आईआईएफएजी के तीन जजों की एक टीम कलाकृति की समीक्षा करेगी और उसे अंक देगी।

21. प्रदर्शनी देखने के लिए यात्रा खर्च का भुगतान कौन करेगा?

उत्तर: IIFAG केवल उन कलाकारों के लिए भुगतान करेगा, जिन्हें प्रदर्शनी के दौरान कार्यशालाओं को चलाने के लिए चुना जाएगा। प्रदर्शनी में भाग लेने के इच्छुक अन्य सभी कलाकारों को अपनी व्यवस्था स्वयं करनी होगी।

22. प्रदर्शनी देखने के लिए होटल की लागत का भुगतान कौन करेगा?

उत्तर: IIFAG केवल उन कलाकारों के लिए भुगतान करेगा, जिन्हें प्रदर्शनी के दौरान कार्यशालाओं को चलाने के लिए चुना जाएगा। प्रदर्शनी में भाग लेने के इच्छुक अन्य सभी कलाकारों को अपनी व्यवस्था स्वयं करनी होगी।